Delhi LPP

Contact Us
logo

Blogs & News

PM मोदी ने हर देशवासी के लिए देखा बड़ा सपना, DDA पर अड़ंगे का आरोप

Posted By : Jun 21 2018

Posted On : Delhi Lpp

 

प्रदर्शन के दौरान फेडरेशन के सचिव सतीश अग्रवाल ने कहा कि डीडीए ने जो लैंड पुलिंग पॉलिसी बनाई है उससे सस्ता घर मिलना मुश्किल है। इस पॉलिसी से प्रधानमंत्री के सस्ते घरों का सपना पूरा नहीं होगा। उन्होंने प्रधानमंत्री से इसमें हस्तक्षेप करने की मांग की है।

25 लाख नए घर बनाने की थी योजना
सतीश अग्रवाल ने बताया कि पॉलिसी बनाने एवं अधिसूचित करते समय किसान, सोसायटी एवं विशेषज्ञों से बातचीत की गई थी। उस समय ये आकलन किया गया था कि इस नीति को सही तरीके से लागू करने पर दिल्ली में 25 लाख नए किफायती घर बनेंगे, लेकिन जिस तरह से डीडीए ने नीति में बदलाव का प्रस्ताव दिया है उससे छोटे से घर का सपना देख रहे लोगों को भी झटका लगेगा। सतीश का आरोप है कि नई नीति का मकसद केवल बड़े बिल्डरों को फायदा पहुंचाना है। इससे ग्रुप हाउसिंग सोसायटी खत्म हो जाएगी जिसके जरिए मिडिल क्लास अपना छोटा आशियाना बनाता है।

डीडीए ने किए हैं अनैतिक बदलाव
फेडरेशन के अनुसार सितंबर 2013 में डीडीए लैंड पुलिंग पॉलिसी लेकर आई थी, लेकिन पांच साल बीतने के बावजूद अभी तक इसे लागू नहीं किया गया है। उनका आरोप है कि डीडीए ने लैंड पुलिंग पॉलिसी में अनैतिक बदलाव किए हैं जिसकी वजह से दिल्ली में रहने वाले लाखों मध्यम वर्गीय परिवारों के घर का सपना पूरा नहीं हो पाएगा।

इसमें की गई छेड़छाड़ और मनचाहे बदलाव से मास्टर प्लान 2021 में जिन पांच जोन में किफायती घरों की बात की गई थी, वो संभव नहीं है। उन्होंने प्रधानमंत्री से मांग की है कि वह डीडीए की पुरानी लैंड पुलिंग पॉलिसी को लागू करवाएं।

प्रदर्शनकारियों की चार प्रमुख मांगे
एफएआर (फ्लोर एरिया रेशों) को 200 से बढ़ाकर 400 किया जाए।
डेवलपमेंट चार्ज को खत्म किया जाए
कंसोर्टियम का प्रावधान खत्म किया जाए।
कॉन्टिजिओस लैंड का प्रावधान खत्म करें।

Source From: http://m.hindi.eenaduindia.com/States/North/Delhi/2018/06/21170703/protest-against-DDA-on-land-pooling-policy.vpf