Delhi LPP

Contact Us
logo

Blogs & News

लैंडपूलिंग पॉलिसी में पहले एन और पी 2 जोन में बनेंगे फ्लैट

Posted By : Aug 07 2019

Posted On : Delhi LPP

Share:

 

नई दिल्ली : लैंडपूलिंग पॉलिसी के तहत सबसे पहले एन और पी-2 जोन में फ्लैट बनाए जाएंगे। इन्हीं दो जोनों में किसानों ने अपनी जमीन का पंजीकरण कराने में सबसे ज्यादा रुचि दिखाई है। दो से तीन साल में यहां डेवलपमेंट प्लॉन बन जाएगा। इस बीच डीडीए ने पॉलिसी के लिए पंजीकरण कराने की तिथि छह सितंबर तक बढ़ा दी है।

11 अक्टूबर 2018 को अधिसूचित लैंडपूलिंग पॉलिसी में पंजीकरण के लिए पांच फरवरी 2019 को डीडीए पोर्टल लांच किया गया था। पांच जोनों एन, पी टू, के वन, एल और जे में विभक्त इस पॉलिसी को करीब एक सौ सेक्टरों में बांटा गया है। 20 हजार से 22 हजार हेक्टेयर लैंड पर यह जोन विकसित होंगे। पांच अगस्त तक पॉलिसी के तहत 4,281 आवेदन आ चुके हैं। इसमें अब तक 4,452 हेक्टेयर जमीन के लिए पंजीकरण हुआ है। सबसे अधिक जमीन एन जोन में आई है। यहां 37.4 फीसद यानी 2,436 हेक्टेयर जमीन का पंजीकरण हुआ है। इस जोन में 2,583 किसानों ने आवेदन किया है। दूसरे नंबर पर पी-टू जोन का काम चल रहा है। यहां पर 36.6 फीसद यानी 896 हेक्टेयर जमीन का पंजीकरण हुआ है। इसके लिए 906 किसानों ने आवेदन किया है। सबसे कम पंजीकरण के-1 जोन में हुआ है, जहां महज 7 फीसद यानी 147 हेक्टेयर जमीन पंजीकृत हुई है। 104 किसानों ने पंजीकरण करवाया है। हैरत की बात यह कि सबसे बड़े एल जोन में महज 12.1 फीसद यानी 970 हेक्टेयर जमीन ही डीडीए को मिली है। इसके लिए 688 किसानों ने पंजीकरण करवाया है। इस जोन में कुल 11,680 हेक्टेयर जमीन उपलब्ध है। अब तक 4452 हेक्टेयर जमीन का पंजीकरण हुआ है।

Courtesy:-  https://epaper.jagran.com/epaper/07-aug-2019-4-delhi-city-edition-delhi-city-page-6.html#