Delhi LPP

Contact Us
logo

Blogs & News

लैंड पूलिंग स्कीम में नहीं बढ़ेगी एफएआर

Posted By : Jul 26 2018

Posted On : Delhi Lpp

नईं दिल्ली, ( पंजाब केसरी ) : राजधानी में लोगों को अपना आशियाना उपलब्ध कराने वाली दिल्ली विकास प्राधिकरण ( डीडीए) की लैड पूलिंग स्कीम में फ्लोर एरिया रेशियो (एफएआर) 200 से ज्यादा बढने की संभावना नहीं है । बोर्ड आँफ इंक्वायरी के सदस्य सर्वसम्मति से इस बात के पक्ष में है की एफएआर को 200 से ज्यादा न किया जाए।

हालांकि बोर्ड आँफ इंक्वायरी के समक्ष हुई जन सुनवायी के दौरान किसानों और बिल्डरों ने एएफआर 2 00 से बढाकर 400 किये जने को किये जाने की मांग जोरदार तरीके से उठायी थी लेकिन बोर्ड आँफ इंक्वायरी के सदस्य उनकी उनकी इस मांग को मानाने की पक्ष में नहीं है । इसलिए लैंड पूलिंग के प्रस्ताव में एफएआर 200 ही रहने की संभावना है । बोर्ड आँफ इंक्वायरी के सदस्य विजेंद्र गुप्ता ने बताया कि दिल्ली में 24000 हेक्टेयर जगह उपलब्ध है । यदि लैंड पूलिंग पालिसी में ऍफ़ ए आर 200 से बढ़ कर 400 किया गया तो यहाँ आबादी का घनत्व बढ़ जायेगा बिजली और पानी की ब्यवस्था ज्यादा करनी पड़ेगी ।

इतना ही नहीं यह मुलभुत सुविधाओ को भी बढ़ाना पड़ेगा उन्होंने बताया कि दिल्ली में 15 लाख नए घर बनाए की उम्मीद की जा रही है । इनमे कम से कम 50लाख नए लोग बसेंगे । उनकेलिए बेसिक सुविधाएं भी की जाएंगी । यदि ऍफ़ ए आर 400 कर दिया गया तो ये अनुमान दोगुना हो जायेगा ।

उन्होंने कहा कि 2013 की लैंड पूलिंग योजना में ऍफ़ ए आर 400 था लेकिन रविसेड पालिसी में इसे २०० कर दिए गए जब इस पर आपत्ति और सुझाव मंगाए गए तो किसानो और बिल्डरों ने एफ ए आर को 400 किये जाने की मांग की थी लेकिन बोर्ड आँफ इंक्वायरी सदस्य इसके पाच में नहीं है । यह बता दे की लैंड पूलिंग का प्रस्ताव तैयार होने के अंतिम चरण में है । संभवतः अगस्त के पहले सप्ताह में लग की अध्यक्छता में होने वाली ददा बोर्ड बैठक में इसके प्रस्ताव को स्वीकृति दे दी जाएगी ।

क्या है एफएआर

किसी प्लाट पर निर्माण के लिए कितना एरिया मिल सकता है उसी रेसिओ में प्लाट पर निर्माण गतिविधियों को अंजाम दिया जा सकता है इससे यह तय होता है की उस प्लाट पर कितने फ्लैट बन सकते है एक उदहारण के तौर पर यदि 1000 वर्गमीटर के प्लाट पर एफ ए आर 100 है तो इस प्लाट पर 1000 वर्गमीटर कवर्ड एरिया मिलेगा वही ग्राउंड कवरेज 25% मिलेगी , इसमे 250 वर्गमीटर के 4 फ्लैट बन सकते है

courtesy: http://epaper.punjabkesari.com/