Delhi LPP

Contact Us
logo

Blogs & News

प्रधानमंत्री आवास योजना के बारे में डीडीए सार्वजनिक सूचना

Posted By : Jul 27 2019

Posted On : Dwarka L Zone Consultants

 

दिल्‍ली विकास प्राधिकरण ने दिल्‍ली के आवास की माँग का आकलन करने के लिए प्रधानमंत्री आवास योजना (पी.एम.ए.वाई.) सभी के लिए आवास (शहरी) के अंतर्गत ऑनलाइन सर्वेक्षण करने का निर्णय किया है | यह सर्वेक्षण दिल्‍ली के जे.जे.क्लस्टरों के निवासियों को छोड़कर किया गया है | जिनके बारे में स्व-स्थाने स्‍्लम पुनर्वास नीति अर्थात्‌ प्रधानमंत्री आवास योजना दिशानिर्देशों के वर्टिकल- के अंतर्गत विचार किया जा रहा है, जिसके लिए दिल्‍ली शहरी आश्रय सुधार बोर्ड (डी.यूएस.आई.बी.)द्वारा अलग से सर्वेक्षण किया जा रहा है और इसके लिए दि.वि.प्रा. में कोई पृथक आवेदन-पत्र जमा करने की आवश्यकता नहीं है।

2. जो व्यक्ति प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) (पी.एम.ए.वाई.-यू.) के अंतर्गत अन्य वर्टिकल अर्थात्‌ क्रेडिट लिंक्ड सब्सिडी स्कीम (सी.एल.एस.एस.)वर्टिकल-2, अफोर्डबल हाउसिंग प्रोजेक्ट (ए.एच.पी.) वर्टिकल--3 और सब्सिडी फॉर बेनिफिशियरी लैंड इंडिविजुअल हाउस कंस्ट्रक्शन अथवा इन्हँँसमेंट वर्टिकल-4 के अंतर्गत विचार किए जाने के लिए सब्सिडी/ आबंटन के इच्छुक हैं, वे दि.वि.प्रा. के पोर्टल ऑन लाइन आवेदन-पत्र प्रस्तुत कर सकते हैं | आवेदन पत्र निजी व्यक्ति द्वारा स्वयं अथवा दिल्‍ली के विभिन्‍न भागों में आम सेवा केंद्रों की सहायता से आवेदन पत्र के प्रारूप के अनुसार जानकारी उपलब्ध करवाकर ऑनलाइन जमा किए जा सकते हैं। दि.वि.प्रा. का पोर्टल दिनांक 04.08.2049 से 30.09.2049 तक खुला रहेगा। कृपया पात्रता के लिए आवासन और शहरी कार्य मंत्रालय, भारत सरकार की वेबसाइट देखें |

3. ऑन लाइन आवेदन--पत्रों की प्राप्ति पर, पात्र आवेदकों के डाटा बेस आवास की मांग के आकलन के लिए तैयार किए जाएंगे और जब भी प्रधानमंत्री आवास योजना-सभी के लिए आवास (शहरी) के अंतर्गत दि.वि.प्रा. द्वारा 'स्कीम' शुरू की जाएगी, तो नीति दिशानिर्देशों के अनुसार सब्सिडी / आबंटन के लिए उन पात्र आवेदकों के मामले पर विचार किया जाएगा |

4. किसी भी कार्यालय के माध्यम से प्राप्त ऑफलाइन आवेदन-त्रों पर प्रधानमंत्री आवास
योजना-सभी के लिए आवास (शहरी), (पी.एम.ए.वाई.-यू.) के अंतर्गत पात्रता / आबंटन का निर्णय करने के लिए विचार नहीं किया जाएगा।

courtesy: epaper.jagran.com/epaper/27-jul-2019-4-delhi-city-edition-delhi-city-page-8.html