+91-98105 36575

Home » Land Pooling Policy » दिल्ली में बनेंगे 17 लाख फ्लैट

दिल्ली में बनेंगे 17 लाख फ्लैट

नई दिल्ली, प्रेट्र : करीब पांच साल के इंतजार के बाद दिल्ली की संशोधित लैंड पूलिंग पॉलिसी को केंद्र ने शुक्रवार को अधिसूचित कर दिया है। उम्मीद है कि इस पर अमल से कुछ वषों में दिल्ली में 17 लाख से ज्यादा नए घर बन सकेंगे, जहां 76 लाख लोग रह सकेंगे। इससे अवैध कालोनियों पर भी रोक लगेगी। फिलहाल इस पॉलिसी के तहत दिल्ली के 95 गांवों को अधिसूचित किया गया है। आवास और शहरी कार्य मंत्रलय के सूत्रों के मुताबिक, पॉलिसी के तहत जो भी हाउसिंग सोसायटी होगी, उसमें जमीन के 60 प्रतिशत हिस्से पर घर बनेंगे और 40 प्रतिशत जमीन पर लोगों के लिए जरूरी सुविधाएं मसलन, सड़कें, पार्क, सीवर आदि विकसित किए जाएंगे।

Delhilppnewsdanik jagran

इन घरों की खातिर औपचारिकताएं जल्द पूरी हों, इसके लिए सिंगल विंडो सिस्टम शुरू होगा।1दिल्ली सरकार ने 5,600 फ्लैटों को दी मंजूरी : दिल्ली के शहरी विकास मंत्री सत्येंद्र जैन ने शुक्रवार को कहा कि दिल्ली सरकार ने राष्ट्रीय राजधानी की चार अलग-अलग जगहों पर आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग (ईडब्ल्यूएस) के लिए लगभग 5,600 फ्लैटों के निर्माण के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी। दिल्ली शहरी आश्रय सुधार बोर्ड (डीयूएसआइबी) ने भलस्वा, संगम पार्क, लाजपत नगर और करोल बाग के देव नगर में ईडब्ल्यूएस के लिए 5,594 फ्लैटों के निर्माण प्रस्ताव को मंजूरी दी। झुग्गी-झोपड़ियों में रहने वाले लोगों के पुनर्वास के लिए दिल्ली सरकार की महत्वाकांक्षी योजना के तहत इन फ्लैटों का निर्माण किया जाएगा।

केंद्र सरकार ने अधिसूचित की संशोधित लैंड पूलिंग पॉलिसी झुग्गी वालों के लिए 5594 फ्लैट बनाने को डूसिब बोर्ड की मंजूरी

राज्य ब्यूरो,नई दिल्ली : दिल्ली के लिए 2020 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले राजधानी के सभी जेजे कलस्टर में सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी। झुग्गी वालों के लिए 5594 फ्लैट भी तैयार किए जाएंगे। इस समय दी जा रही शौचालयों की सुविधाओं को बेहतर बनाने के लिए नई एजेंसियों की मदद ली जाएगी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की अध्यक्षता में शुक्रवार को दिल्ली शहरी आश्रय सुधार बोर्ड (डूसिब) की बोर्ड की 24वीं बैठक हुई। इसमें तीन फैसले लिए गए। इसके अनुसार ‘जहां झुग्गी वहां मकान’ स्कीम के तहत 5594 झुग्गी मालिकों को फ्लैट दिए जाएंगे। इस आवासीय योजना के तहत भलस्वा में 3780, संगम पार्क में 582, लाजपत नगर के कस्तूरबा निकेतन में 448 और करोलबाग के देव नगर में 784 फ्लैट बनाए जाएंगे।

इनके लिए कुल अनुमानित लागत 737 करोड़ रुपये रखी गई है। सरकार का दावा है कि ये फ्लैट्स डेढ़ साल में बनकर तैयार हो जाएंगे। जनवरी से इनका निर्माण कार्य शुरू कर दिया जाएगा। काम जल्द पूरा हो, इसलिए फ्लैटों में ईंटों की दीवारों की जगह सीमेंट कंकरीट की दीवारें बनाई जाएंगी। इन आवासीय परिसरों में सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट (एसटीपी), सोलर पैनल, कम्युनिटी हॉल और अन्य सामुदायिक सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी। झुग्गी बस्तियों में नालियों व सड़कों के निर्माण व रोशनी की व्यवस्था के लिए 100 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे। अगले नौ माह के भीतर इन कार्यो को पूरा करने का लक्ष्य रखा गया है।

Source From: https://epaper.jagran.com/ePaperArticle/13-oct-2018-edition-Delhi-City-page_7-3224-8034-4.html

Facebooktwittergoogle_plus