Delhi LPP

Contact Us
logo

Blogs & News

लैंड पूलिंग पॉलिसी को लेकर आम आदमी का सवाल, ऐसे कैसे बनेगा आशियाना?

Posted By : Jul 04 2018

Posted On : Delhi Lpp

 

 

नई दिल्ली : लैंड पूलिंग पॉलिसी को लेकर मंगलवार को भी डीडीए में जनसुनवाई हुई। इसमें लोगों ने सवाल पूछा कि क्या इस पॉलिसी से आम आदमी के घर का सपना पूरा हो पाएगा। उन्होंने पॉलिसी की नियम एवं शर्तों पर सवाल उठाते हुए उसमें उचित बदलाव की मांग की।जनसुनवाई में आए युद्धवीर ने कहा कि डीडीए ने पॉलिसी में यह शर्त रखी है कि एक सेक्टर की 70 फीसदी जमीन एक साथ होनी चाहिए। अगर सेक्टर 100 एकड़ का बनता है, तो उसके अनुसार हमें 70 एकड़ जमीन एकसाथ खरीदनी पड़ेगी।

70 फीसदी से घटाकर 40 फीसदी करने की मांग

आम लोगों के लिए एक साथ इतनी जमीन खरीदना मुश्किल है। क्योंकि कई जगहों पर किसान जमीन बेचने को तैयार नहीं है। ऐसे में केवल बड़े बिल्डर ही डीडीए की इस शर्त को पूरा कर सकते हैं। उन्होंने मांग की कि डीडीए को इसे 70 फीसदी से घटाकर 40 फीसदी करना चाहिए, ताकि आम लोग भी इकट्ठे होकर इस पॉलिसी के तहत अपना घर बना सकें। दूसरी तरफ इस पॉलिसी की शर्तों से किसानों का भी शोषण होगा। इसे लेकर दोबारा विचार करना चाहिए।

FAR हुआ आधा, सबको घर मिलना मुश्किल

जनसुनवाई में आए नवीन ने बताया कि उनकी सोसाइटी में 500 लोग हैं। इन लोगों ने मिलकर वर्ष 2013 में 16 एकड़ जमीन ली थी। उस समय एफएआर 400 रखा गया था, लेकिन अब इसे 200 कर दिया गया है। इसकी वजह से अब इस जमीन पर सभी लोगों को फ्लैट मिलना मुश्किल है। इसके लिए अब उन्हें 40 फीसदी अतिरिक्त जमीन खरीदनी पड़ेगी। इसकी कीमत भी काफी बढ़ चुकी है। उन्होंने कहा कि डीडीए को यह सोचना चाहिए कि दिल्ली में जमीन बची नहीं है। ऐसे में मकान अब ऊपर की तरफ ही बढ़ाया जा सकता है। एफएआर घटाने से घर की कीमत बढ़ेगी और आम लोगों के घर का सपना पूरा नहीं होगा।

Source From:http://m.hindi.eenaduindia.com/States/North/Delhi/2018/07/04053640/SC-give-bail-to-principal-of-brd-medical-collage.vpf